Loading...

facebook

LIKE PLEASE

सांसद आदर्श ग्राम योजना के उद्देश्य व् मुख्य भाग क्या हे आइये जानते हे।

सांसद आदर्श ग्राम योजना के उद्देश्य व् मुख्य भाग क्या हे आइये जानते हे।  


SAANSAD_AADARSH_GRAM_YOJANA_MUKHY_UDDESHY2018_pg.jpg

                                   आदर्श ग्राम योजना है। बेहद ख़ास..। 
                        सांसद महोदय कर रहे है खूब प्रयास।। 
               सरकार भी चाहती है सबका साथ सबका विकास  


सांसद आदर्श ग्राम योजना के उद्देश्य  क्या है। -इस सांसद आदर्श ग्राम योजना का उद्देश्य भारत के सभी ग्रामो की स्थिति बेहतर बनाना हे। जिसके लिए भारत के सभी सांसदो को अपने निर्वाचन क्षेत्र में आने वाले गाओ में से किसी एक को चुन कर आदर्श ग्राम बनाना हे।  इस योजना का शुभारम्भ जय प्रकाश नारायण जी के जन्मदीन 11अक्टुम्बर 2014 को नरेंद्र मोदी के द्वारा की गई थी और मोदी जी 2016 तक शामिल करने का निर्णय लिया था  । इस सांसद आदर्श ग्राम योजना के नियमो की झलक व शर्ते बताते हे। की जो गांव  सांसद ने आदर्श गांव के लिए चुना हे वहां ना तो सांसद का घर और न ही ससुराल होना चाहिए। और अब भारत के सभी सांसदों को 2019 तक दो गांव को और विकसित कर आदर्श ग्राम में तबदिल करना हे। इस योजना में चुने गए गांव के निवासीओ को उन्नत बुनियादी सुविधाएं ,बेहतर अवसर राष्ट्रीय गौरव ,देश भक्ति ,आत्मविश्वास ,सामुदाईक भवन , को विकसत करने पार ध्यान केंद्रित किया है। यह योजना संसद के दो नो सांसद को प्रोत्साहित करती हे। इसमें चुने गए गांव दूसरे गांव के लिए आदर्श बने यह इस योजना का मूल लक्ष है। देश में कुल 6 लाख गाँव है जिनमे से 2 ,5 ०० गॉव ही इस सांसद आदर्श ग्राम योजना में शामिल किये गए। 

सांसद आदर्श ग्राम योजना मुख्य भाग क्या है। -सांसद आदर्श ग्राम योजना मुख्य भाग यह हे की एक साल में  लगभग 800 गॉव को विकसित एवं उनका कायाकल्प करना हे। सांसदो को इस योजना के लिए किसी भी गाँव  को चुननें की पूरी आजादी हे.इस योजना की मुख्य शर्त यह हे की सांसद अपने ससुराल के गाँव  को गोद नहीं ले सकता है। प्रधान मंत्री नरेंद्र दास मोदी ने इस योजना में सांसदों को निर्देश देते हुए कहा की गाँव को आदर्श बनाने की पूरी जिम्मेदारी सांसद की होगी और  प्रधान मंत्री नरेंद्र दास मोदी  ने कहा की 2019 तक 2500 मॉडल गाँव त्यार हो जाएंगे  है।  आदर्श गाँव के मोडल में सबसे पहले 3000 से 5000 जनसंख्या वाले मैदानी इलाको और 1००० से 3000 तक की जनसंख्या वाले पहाड़ी इलाको को लिया जाएगा। आदर्श गांव में मुख्यतः अस्पताल ,लाइब्रेरी ,स्कूल ,सर्वजनिक शौचालय ,खेल का मैदान ,ई साक्षरता  जैसी सुविधाएं भी होंगी। इस योजना से आदर्श ग्रामो के आसपड़ोस की पंचायते प्रेरित हो रही हे। आप को बाता दे की इस योजना में आदर्श ग्रामो द्वारा आसपड़ोस की पंचायत को प्रशिक्षित किया जा रहा हे. भारत के कुल 2 ,50,००० गॉव  पांच साल में  केवल 1 प्रतिशत ही आदर्श ग्रामो के नाम से घोषित किये गाये है। इस योजना को पूरा होने में कई दशक लग सकते है फिर भी यह एक अच्छी शुरुआत हे 




Share:

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Popular Posts